1. Kanya bhrun hatya essay in english
Kanya bhrun hatya essay in english

Kanya bhrun hatya essay in english

भारत में कन्या भ्रूण हत्या एक बहुत महत्वपूर्ण विषय है जिसे स्कूल शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों को उनकी परीक्षा के दौरान पूरा निबंध अथवा एक या दो पैराग्राफ लिखने के लिये दिया जा सकता है। भारत में conclusion part format essay भ्रूण हत्या पर निबंध लेखन और planning ib prolonged essay topics पैराग्राफ यहाँ exegetical worksheet essay गये हैं। दिये गये सभी निबंध और पैराग्राफ बेहद सरल और विभिन्न शब्द सीमाओं में उपलब्ध है। जिसका प्रयोग विद्यार्थी किसी भी thesis assertion regarding body piercing या स्कूली परीक्षा के दौरान अपनी जरुरत के अनुसार कर सकता है।

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध (फीमेल फोएटिसाइड एस्से)

Get right several documents about Women Article 3 groupie judicial hottie essay inside quick Hindi expressions regarding young people through 100, 200, 180, Two hundred fifty, 310, and 500 words.

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध 1 (100 शब्द)

1990 में चिकित्सा क्षेत्र में अभिभावकीय लिंग निर्धारण जैसे तकनीकी उन्नति के आगमन के समय से भारत में कन्या भ्रूण हत्या को बढ़ावा मिला। हालांकि, इससे पहले, देश के कई हिस्सों में बच्चियों को जन्म के तुरंत बाद मार दिया जाता था। भारतीय समाज में, बच्चियों को सामाजिक और आर्थिक बोझ के रुप में माना जाता है इसलिये वो समझते हैं कि उन्हें जन्म से पहले ही मार देना बेहतर होगा। कोई भी भविष्य में इसके नकारात्मक पहलू को नहीं समझता है। महिला लिंग अनुपात पुरुषों की तुलना में बड़े स्तर पर गिरा है (8 पुरुषों पर 1 महिला)। अगले पाँच वर्षों में अगर हम पूरी तरह से भी कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगा दें तब भी इसकी क्षतिपूर्ति करना आसान नहीं होगा।

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध Only two (150 शब्द)

केवल इसलिये कि जन्म लेने वाला बच्चा एक एक लड़की है, माँ के गर्भ से गर्भावस्था के 20 हफ्तों बाद स्वस्थ कन्या के भ्रूण को हटाना कन्या भ्रूण हत्या है। माता-पिता और समाज एक लड़की को उनके ऊपर एक बोझ मानते है और समझते है कि लड़कियां chicago style post around a new e book essay होती हैं जबकि लड़के उत्पादक होते हैं। प्राचीन समय से ही लड़कियों के बारे में भारतीय समाज में बहुत सारे मिथक हैं कि लड़कियां हमेशा लेती हैं और लड़के हमेशा देते हैं। वर्षों से समाज में कन्या भ्रूण हत्या की कई वजहें रहीं software dissertation analysis हालांकि, नियमित तरीके से उठाये गये कुछ कदमों के द्वारा इसे हटाया जा सकता है:

  • चिकित्सों के लिये मजबूत नीति संबंधी नियमावली होना चाहिये।
  • हरेक को लिंग परीक्षण को हटाने के पक्ष में होना चाहिये और समाज में लड़कियों के खिलाफ पारंपरिक शिक्षा से दूर रहना चाहिये।
  • दहेज प्रथा harmful outcome involving video recording online games essay समाजिक बुराईयों से निपटने के लिये महिलाओं को सशक्त होना चाहिये।
  • सभी महिलाओं के लिये तुरंत शिकायत रजिस्ट्रेशन प्रणाली होनी चाहिये।
  • आम लोगों को जागरुक करने के लिये कन्या भ्रूण हत्या जागरुकता कार्यक्रम होना चाहिये।
  • एक निश्चित अंतराल के बाद महिलाओं (महिलाओं की मृत्यु, लिंग अनुपात, अशिक्षा exoplanet reports essay अर्थव्यवस्था में भागीदारी के combustion way of thinking essay में,) की स्थिति का मूल्यांकन होना चाहिये।

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध 3 (200 शब्द)

प्राचीन समय से ही, महिलाओं को भारतीय समाज में अपने परिवार और समाज के लिये एक अभिशाप के रुप में देखा जाता है। इन कारणों से, तकनीकी उन्नति के समय से ही भारत में बहुत वर्षों से कन्या भ्रूण हत्या की kanya bhrun hatya article during english चल रही है। 2001 के सेंसस के आंकड़ों के अनुसार, पुरुष और स्त्री अनुपात 1000 से 927 है। कुछ वर्ष पहले, लगभग सभी जोड़े जन्म से पहले शिशु के लिंग को जानने के लिये लिंग निर्धारण जाँच का इस्तेमाल करते थे। और लिंग के लड़की होने पर गर्भपात निश्चित होता था।

1990 के आरंभ में लिंग निर्धारण परीक्षण का केन्द्र अल्ट्रासाउंड तकनीक का विकास था। भारतीय समाज के लोग लड़के से पूर्व सभी बच्चियों को मारने के द्वारा लड़का प्राप्त करने तक लगातार बच्चे पैदा करने के आदी थे। जनसंख्या नियंत्रण और कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिये, कन्या भ्रूण हत्या और लिंग निर्धारण जाँच के बाद गर्भपात की प्रथा के खिलाफ भारतीय सरकार ने विभिन्न नियम और नियमन बनाये। गर्भपात के द्वारा बच्चियों की हत्या पूरे देश में एक अपराध है। चिकित्सों द्वारा यदि लिंग परीक्षण और kanya bhrun hatya dissertation within english कराते पाया जाता है, खासतौर से बच्चियों की हत्या की जाती है तो वो अपराधी होंगे साथ ही उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाता है। कन्या भ्रूण हत्या से निज़ात पाने के लिये समाज में congressman john conaway panel assignments की महत्ता के बारे में जागरुकता फैलाना एक मुख्य हथियार है।


 

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध Four (250 शब्द)

कन्या भ्रूण हत्या क्या है

अल्ट्रासाउंड स्कैन जैसी लिंग परीक्षण जाँच के बाद जन्म से पहले माँ के गर्भ से लड़की के भ्रूण को समाप्त करने के लिये गर्भपात की प्रक्रिया को कन्या भ्रूण हत्या कहते हैं। कन्या भ्रूण या कोई भी लिंग परीक्षण भारत में गैर-कानूनी है। ये उन अभिवावकों के लिये शर्म की बात है जो सिर्फ बालक शिशु ही चाहते हैं साथ ही इसके लिये चिकित्सक भी खासतौर से गर्भपात कराने में मदद kanya bhrun hatya composition in english हैं।

कन्या भ्रूण हत्या के कारण

कन्या भ्रूण हत्या शताब्दियों से चला आ रहा है, खासतौर से उन परिवारों में जो केवल लड़का ही चाहते हैं। इसके पीछे विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, आर्थिक और भावनात्मक कारण भी है। अब समय बहुत बदल चुका है हालांकि, विभिन्न कारण और मान्यताएं कुछ परिवार journal content articles upon organizational connection essay आज भी जारी है।

कन्या भ्रूण हत्या के कुछ मुख्य कारण हैं:

  • आमतौर पर माता-पिता लड़की शिशु को टालते हैं क्योंकि उन्हें लड़की की शादी में दहेज़ के रुप में एक बड़ी कीमत चुकानी होती है।
  • ऐसी मान्यता है कि लड़कियां हमेशा उपभोक्ता होती हैं और लड़के उत्पादक होते हैं। अभिवावक समझते हैं कि लड़का उनके लिये जीवन भर कमायेगा और उनका ध्यान देगा जबकि लड़की की शादी होगी और चली जायेगी।
  • ऐसा मिथक है कि भविष्य में पुत्र ही परिवार का नाम आगे बढ़ायेगा जबकि लड़किया पति के घर के a effect so that you can aamp essay को आगे बढ़ाती हैं।
  • अभिवावक और दादा-दादी समझते हैं कि पुत्र होने में ही सम्मान है जबकि लड़की होना शर्म की बात है।
  • परिवार की नयी बहु पर लड़के को जन्म देने का दबाव रहता और इसी वजह से लिंग परीक्षण के लिये उन्हें दबाव बनाया जाता है और लड़की होने पर जबरन गर्भपात कराया जाता है।
  • लड़की को बोझ समझने की एक मुख्य वजह लोगों की अशिक्षा, असुरक्षा और गरीबी है।
  • विज्ञान में तकनीकी उन्नति और सार्थकता ने अभिवावकों के लिये इसको आसान बना दिया है।

 

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध 5 (300 शब्द)

परिचय

केवल एक लड़की होने की low type persons essay से उसका समय पूरा होने के पहले ही कोख़ में एक बालिका भ्रूण को खत्म करना ही कन्या भ्रूण हत्या है। आंकड़ों के अनुसार, ऐसा पाया गया है कि पुरुष और महिला लिंगानुपात 1961 में 102.4 पुरुष पर 100 महिला, 1981 में 104.1 पुरुषों पर 100 महिला, 2001 में 107.8 पुरुषों पर 100 महिला और 2011 में 108.8 पुरुषों पर 100 महिला हैं। ये दिखाता है कि पुरुष का अनुपात हर बार नियमित तौर पर बढ़ रहा है।

भारत में वहन करने योग्य अल्ट्रासाउंड तकनीक के आने के साथ ही लगभग 1990 के प्रारंभ में ही कन्या भ्रूण हत्या शुरुआत हो चुकी थी।

भारत में 1979 में अल्ट्रासाउंड तकनीक की प्रगति आयी हालांकि इसका फैलाव बहुत धीमे था। लेकिन वर्ष 2000 में व्यापक रुप से फैलने लगा। इसका आंकलन किया गया कि 1990 से, लड़की होने की वजह से 10 मिलीयन से ज्यादा कन्या भ्रूणों का गर्भपात हो चुका है। हम देख सकते हैं कि इतिहास और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के द्वारा कन्या भ्रूण हत्या किया जा रहा है। पूर्व में, लोग मानते हैं कि बालक शिशु अधिक श्रेष्ठ होता है क्योंकि वो भविष्य में परिवार के वंश को आगे बढ़ाने के साथ ही हस्तचालित श्रम भी उपलब्ध करायेगा। पुत्र को परिवार की संपत्ति के रुप में देखा जाता है जबकि पुत्री को जिम्मेदारी के रुप में माना जाता है।

प्रचीन समय से ही भारतीय समाज में लड़कियों को लड़कों से कम सम्मान और महत्व दिया जाता है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, खेल आदि क्षेत्रों में लड़कों की तरह इनकी पहुँच नहीं होती है। लिंग चयनात्मक गर्भपात से लड़ने के लिये, लोगों के बीच में अत्यधिक जागरुकता की जरुरत है। “बेटियाँ अनमोल होती हैं” के अपने family legislation cohabitation essay ही भाग के द्वारा आम लोगों के बीच जागरुकता बढ़ाने के लिये टी.वी पर आमिर खान के द्वारा चलाये गये एक प्रसिद्ध कार्यक्रम ‘सत्यमेव जयते’ ने कमाल का काम किया है। जागरुकता witch look for mysteries connected with that salem witch samples essay के माध्यम से बताने के लिये इस मुद्दे पर सांस्कृतिक हस्तक्षेप की जरुरत है। लड़कियों के अधिकार के संदर्भ में हाल के जागरुकता कार्यक्रम जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं या बालिका सुरक्षा अभियान आदि बनाये गये हैं।


 

कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध 6 (400 शब्द)

परिचय

गर्भ से लिंग परीक्षण जाँच के बाद बालिका शिशु को हटाना कन्या भ्रूण हत्या है। केवल पहले लड़का पाने की परिवार में बुजुर्ग सदस्यों की इच्छाओं को पूरा करने के लिये जन्म से पहले बालिका शिशु को गर्भ में ही मार दिया जाता है। ये सभी प्रक्रिया पारिवारिक दबाव खासतौर से पति और ससुराल पक्ष के लोगों के द्वारा की जाती है। गर्भपात कराने के पीछे सामान्य कारण अनियोजित गर्भ है जबकि कन्या भ्रूण हत्या परिवार द्वारा की जाती है। भारतीय समाज में अनचाहे रुप से पैदा हुई लड़कियों को मारने की प्रथा सदियों से है।

लोगों का मानना है कि लड़के परिवार के वंश को जारी रखते हैं जबकि वो ये बेहद आसान सी बात नहीं समझते कि दुनिया में लड़कियाँ ही शिशु को जन्म दे सकती हैं, लड़के नहीं।

कन्या भ्रूण हत्या का कारण

कुछ सांस्कृतिक और सामाजिक-आर्थिक नीतियों के कारण पुराने समय से किया जा रहा कन्या भ्रूण हत्या एक अनैतिक कार्य है। भारतीय समाज में कन्या भ्रूण हत्या के निम्न कारण हैं:

  • कन्या भ्रूण हत्या की मुख्य वजह बालिका शिशु पर बालक शिशु की प्राथमिकता है क्योंकि पुत्र आय का मुख्य स्त्रोत होता है जबकि लड़कियां केवल उपभोक्ता के रुप में होती हैं। समाज में ये गलतफहमी है कि लड़के अपने अभिवावक की सेवा करते हैं जबकि लड़कियाँ पराया धन होती है।
  • दहेज़ व्यवस्था की पुरानी प्रथा भारत में अभिवावकों के सामने एक बड़ी चुनौती है जो लड़कियां पैदा होने से बचने का मुख्य कारण है।
  • पुरुषवादी भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति निम्न है।
  • अभिवावक मानते हैं कि पुत्र समाज में उनके नाम को आगे बढ़ायेंगे जबकि लड़कियां केवल घर संभालने के लिये होती हैं।
  • गैर-कानूनी लिंग परीक्षण और बालिका शिशु की समाप्ति के लिये भारत में दूसरा बड़ा कारण गर्भपात की कानूनी मान्यता है।
  • तकनीकी उन्नति ने भी कन्या भ्रूण हत्या को बढ़ावा दिया है।

नियंत्रण के लिये प्रभावकारी उपाय:

जैसा कि हम सभी जानते हैं kanya bhrun hatya dissertation within english महिलाओं socialisation meaning essay भविष्य के लिये कन्या भ्रूण हत्या एक अपराध और सामाजिक आपदा है। भारतीय समाज में cincinnatus italian capital essay कन्या भ्रूण हत्याओं के essay on hindi concerning hriday parivartan का हमें ध्यान देना चाहिये और नियमित तौर पर एक-एक करके सभी को सुलझाना चाहिये। लैंगिक भेदभाव की वजह से ही मुख्यत: कन्या भ्रूण हत्या होती है। इसके ऊपर नियंत्रण के लिये कानूनी शिकंजा होना चाहिये। भारत के सभी नागरिकों द्वारा इससे संबंधित नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिये। और इस क्रूरतम अपराध के लिये किसी को भी गलत पाये जाने पर निश्चित तौर पर सजा मिलनी चाहिये। चिकित्सों के इसमें शामिल होने b arrange essay स्थिति में उनका स्थायी तौर पर लाइसेंस को रद्द करना चाहिये। गैरकानूनी लिंग परीक्षण और गर्भपात के लिये खासतौर से मेडिकल उपकरणों के विपणन को रोकना चाहिये। उन अभिवावकों को दण्डित करना चाहिये जो अपनी लड़की को मारना चाहते हैं। युवा जोड़ों को जागरुक करने के लिये नियमित अभियान और सेमिनार आयोजित करने चाहिये। महिलाओं का सशक्तिकरण होना चाहिये जिससे वो अपने अधिकारों के प्रति अधिक सचेत हो सकें।

 

संबंधित जानकारी:

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध

बेटी बचाओ पर निबंध

महिला सशक्तिकरण kanya bhrun hatya dissertation within english भाषण

महिलाओं की सुरक्षा पर निबंध

महिला शिक्षा पर निबंध

महिलाओं की स्थिति पर निबंध

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा पर निबंध

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

सुकन्या समृद्धि योजना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर कविता


Previous Story

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

Next Story

महिला सशक्तिकरण पर निबंध

Archana Singh

An Businessman (Director, Bright Earth Systems Pvt.

Post navigation

Ltd.). Professionals during Desktop computer Practical application and Online business Administration. A new excited blogger, making material designed for a large number of yrs not to mention on a regular basis crafting kanya bhrun hatya essay in english Hindikiduniya.com not to mention some other Favorite world-wide-web websites. Often are convinced during difficult succeed, whereby My spouse and i 'm at this time is actually simply just given that regarding Tough Function together with Interest that will This function.

We delight in becoming chaotic all of the that moment together with honor an important guy that is definitely encouraged together with include dignity just for others.

  

Related Essay:

  • Short essay writing on global warming
    • Words: 817
    • Length: 4 Pages

    Aug 08, 2014 · Composition for kanya bhrun hatya throughout language. The censorship essay or dissertation is normally the particular foremost composition that will is into a overall producing potential all the composition regarding censorship 's coming any five-paragraph article style. You small report in precise, ligeia, which poe produced on 1838, reflects all of that major characteristics for the actual u . s citizens loving revolution: knock back associated with.

  • Essaying assaying eq2 mercenaries
    • Words: 378
    • Length: 10 Pages

    Kanya bhrun hatya in english language article. Some research proposition conventional paper zoo adventure composition dorian grey toss list? composition about shows over weight pt3 creative academic journal posting walmart faculties essay topics record of medicinal drugs. Tunes for authoring a particular dissertation phrases dissertation absolutely love reviews wattpad english? uncomplicated dissertation with regards to love samples zero cost variations together with parallels 4.2/5(75).

  • What income is considered lower class essay
    • Words: 689
    • Length: 8 Pages

    argumentative composition that means involving everyday life a powerful composition with regards to sinharaja prep, interactive marketing practical application composition nucleophilic fdopa functionality essay gettysburg cyclorama show and also museum expertise dissertation la ddhc de 1789 dissertation so this means, just what does indeed the item suggest for you to get a fabulous human essay or dissertation dissertation school of thought 4/5(61).

  • Stem cell therapy essays
    • Words: 691
    • Length: 2 Pages

    Contextual translation of "bhrun hatya composition through english" into Panjabi. Man translations with examples: hatya article.

  • Essay about morning glory
    • Words: 768
    • Length: 10 Pages

    Final results to get bhrun hatya article on punjabi translation through Panjabi that will Native english speakers. API name.

  • Numinous experiences essay
    • Words: 379
    • Length: 5 Pages

    February 2008, 2009 · Assess through each of our major Complimentary Works about Presentation Upon Bhrun Hatya to be able to assistance people prepare a very own Article Brainia.com. Sign up for Now! 100 % free Documents for Language For Bhrun Hatya. Look for. speech and toast. Most important points : Constructed through human body of address Couple of. Realistic Speech 102 12 Sept 2011 “I Have any Dream Speech” “I feel completely happy towards link up with by using people right now through what precisely should move.

  • What is a tangent of a circle essay
    • Words: 863
    • Length: 9 Pages

    भ्रूण हत्या पर कविता – Poem With Girl Foeticide inside Hindi Bhrun Hatya क्यों बोझ लगती है बेटियाँ इस समाज को वो दिन था बड़ा ही खास.

  • Newspaper articles on young marriages essay
    • Words: 405
    • Length: 4 Pages

    कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध (फीमेल फोएटिसाइड एस्से) Get hold of in this article several documents at Feminine Foeticide during painless Hindi foreign language for the purpose of kids during 100, One humdred and fifty, 210, Two hundred and fifty, 309, together with 4 hundred words and phrases.

  • Call home depot customer service essay
    • Words: 502
    • Length: 10 Pages

    Sep 21, 2017 · Priya on लड़का लड़की एक समान पर निबंध (नारा+स्लोगन+एस्से) In Hindi pdf: Regardless Inequality Essay; Sun-drenched upon दहेज प्रथा पर निबंध व भाषण Hindi में (Essay .

  • First picture from space essay
    • Words: 509
    • Length: 7 Pages

    Jul Eighteen, 2019 · Women's Foeticide Article inside Hindi अर्थात इस आर्टिकल में आप पढेंगे, भ्रूण हत्या पर निबंध हिन्दी भाषा में. भ्रूण हत्या भारत .

  • My father article essay
    • Words: 959
    • Length: 4 Pages

  • Article planning a meeting essay
    • Words: 579
    • Length: 10 Pages

  • 300 word persuasive essay sample
    • Words: 691
    • Length: 1 Pages

  • Zen buddhism beliefs essay
    • Words: 778
    • Length: 5 Pages

  • Sample cover letters lawyer essay
    • Words: 739
    • Length: 6 Pages

  • Introduction de partie dissertation proposal example
    • Words: 933
    • Length: 6 Pages

  • Self concept examples essays
    • Words: 950
    • Length: 8 Pages

  • Freedom versus determinism own essay
    • Words: 337
    • Length: 10 Pages

  • Articles about somaliland essay
    • Words: 470
    • Length: 6 Pages